आंध्र प्रदेशी नाम से जुड़ी जानकारी

नस्ल परिचय

आंध्र प्रदेश का इतिहास

आंध्र प्रदेश भारत के दक्षिण-पश्चिमी भाग में स्थित है। इसका इतिहास बहुत पुराना है। इस क्षेत्र में पांड्य और चोल राजवंश व काकतीय वंश ने शासन किया था। काकतीय वंश के बारे में विशेष जानकारी मिलती है। इस वंश ने तेलुगु भाषा व भारतीय संस्कृति को महत्वपूर्ण योगदान दिया था। वे अपनी प्रगतिशील सोच व विज्ञान को लेकर जाने जाते हैं।

आंध्र प्रदेश के जिले

कृष्णा जिला

कृष्णा जिला आंध्र प्रदेश के दक्षिणी भाग में स्थित है। इसमें कुछ मुख्य शहरों जैसे कि विजयवाड़ा, मछिलीपट्टनम व, कृष्णापत्नम के शहर होते हैं।

गंटूर जिला

गंटूर जिला आंध्र प्रदेश के उत्तरी भाग में स्थित है। इसका मुख्य शहर गंटूर है जो आंध्र प्रदेश की औद्योगिक राजधानी है।

  • भद्राचलल्या संस्कृत गुरुकुलम्
  • आंध्र प्रदेश पर्यटन विकास संगठन

आंध्र प्रदेश के लोक गीत

आंध्र प्रदेश के नृत्य और संगीत का महत्वपूर्ण स्थान है। इसके कुछ लोक गीत हैं जो इस राज्य में खास होते हैं। इनमें से कुछ नाम हैं:

  • पच्चा बुट्टासी (Pacha Bottasi)
  • ओ मेरी सोना तुझे दिल से भुलाना (O Meri Soni)
  • बारिश की बूंदे गिरे आंखों पर (Barish Ki Bundae)

आंध्र प्रदेश के मार्कोलिजीकल संदर्भ

आंध्र प्रदेश का मार्कोलिजीकल संदर्भ बहुत ज्यादा स्पष्ट है। यहाँ पर काकतीय शासनकाल के समय के खण्डहर मौजूद हैं। हैदराबाद के निजाम सेटअप के जमींदारी से यहाँ फ्यूचर पोइंट काकतिया उत्सव (मार्च-अप्रैल) मनाया जाता है, जिसमें कुछ काकतिया सेतुओं का भी विवरण दिया जाता है।

आंध्र प्रदेश में पर्यटन

आंध्र प्रदेश जैसा कि हम जानते हैं कि भारत का एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थान है। इसकी खूबसूरती और इतिहास के एलोक में कोई शक नहीं है। यहाँ पर कुछ प्रसिद्ध पर्यटन स्थल हैं जिनमें निम्नलिखित शामिल हैं:

  • तिरुपति मंदिर - जहाँ लगभग 1.5 लाख पीड़ित दर्शन करते हैं।
  • महानंदी - एक रोमांटिक पर्यटन स्थल
  • चर्मिनार - यह निजामाबाद में स्थित है, जहाँ आप निजामाबाद की दिलचस्प संस्कृति में खो जाएंगे।

आंध्र प्रदेश के जाति व संस्कृति कीपे बदलते रहते हुए हैं

आंध्र प्रदेश के जाति व संस्कृति धीरे-धीरे बदलते रहते हुए हैं। शायद इतना अधिक बदलाव इनके इतिहास में कभी न हुआ हो। यहाँ पर निम्नलिखित स्थानों का एक अति महत्वपूर्ण योगदान हमारी संस्कृति के बदलते रूप और उनसे जुड़ी जानकारी का प्रदान करते हैं:

  • लेपक्कि शासन, कंवा शासनकाल- स्थानीय लोगों के लिए आर्थिक और सांस्कृतिक विकास के लिए प्रथम युग था।
  • काकत्य शासनकाल- भारतीय इतिहास में भाषा, कला और संस्कृति का समर्थन इस काल के दौरान किया गया था।
  • महात्मा गांधी नगर वशी - अंग्रेज़ शासनकाल से मुक्त होने के बाद इस जगह पर एक परिषद स्थापित की गई है। इस परिषद का लक्ष्य सम्पूर्ण समाज के विकास को बढ़ाना है।

संबंधित लेख

आंध्र प्रदेश के अलावा भारत का अन्य प्रदेशों और उनसे जुड़े बातों पर जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए लेखों को जरूर पढ़ें:

  • भारत का इतिहास
  • भारतीय जाति व परंपरा