१४. नामों में संघर्ष के अलग-अलग अवतरण और इतिहास

नस्ल परिचय

प्रस्तावना

हमारा नाम हमारी पहचान होता है। हम उससे अपनी जाति, समाज, धर्म और इतिहास का पता लगाते हैं। उसी के साथ नामों में संघर्ष आने का मुख्य कारण होता है। नामों के संघर्ष को शोधने से हम अपनी नस्लीय और सामाजिक इतिहास को समझ सकते हैं। इस लेख में, हम नामों में संघर्ष के अलग-अलग अवतरणों और इतिहास की जांच करेंगे।

धर्म और नाम

हमारे देश में, धर्म और नाम एक सामाजिक और नस्लीय विभाजन होता है। धर्म और समुदाय के अनुसार नाम दिए जाते हैं। हिंदू परिवारों में, बच्चों के आठवें दिन नामकरण समारोह होता है जहां फूल, तुलसी और मिठाई के साथ नाम रखा जाता है। सिखों में, नाम के प्रथम पांच अक्षर 'Singh' होते हैं और महिलाओं के नाम में 'Kaur' शामिल होता है। मुसलमानों में, आमतौर पर नाम इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद से लिए जाते हैं।

हिंदू नाम

हिंदू नाम भारत की विशाल जातिगत और संस्कृतिक धरोहर हैं। भगवान कृष्ण, राम, दुर्गा, लक्ष्मी और सरस्वती के नाम व्यापक रूप से उपयोग किए जाते हैं। हिंदू धर्म में नामों के पुराने संस्कृतिक लिपियों में लिखा जाता है जैसे कि देवनागरी, गुरुमुखी, तेलुगु और कन्नड़ आदि। कुछ नाम अंग्रेज़ी भाषा से भी लिए गए हैं जैसे कि अमित, दिव्या, मिलिंद आदि। हिंदू नाम वास्तव में बहुत महत्वपूर्ण हैं जो उनकी संस्कृति और विरासत को जीवित रखते हैं।

सिख नाम

सिख नामों में अक्सर 'ਸਿੰਘ' या 'ਕੌਰ' का प्रयोग किया जाता है। यह नामों के अनुलेख में एक अलग ही संकेत होता है। सिख नामों में मूलतः गुरू गोविंद सिंह जी द्वारा लिए गए पांज पहलूओं से संबंधित होते हैं। जैसे कि सारभजीत सिंह, तेजबहादुर सिंह आदि। सिख नाम अनुवाद और व्याख्यान द्वारा आम तौर पर इंग्लिश और हिंदी में पढ़े जाते हैं।

मुस्लिम नाम

मुस्लिम नामों में अंग्रेज़ी, अरबी, उर्दू और फारसी के शब्द होते हैं। आसमान के 99 नामों में से कुछ नाम भी उपयोग किए जाते हैं जैसे कि रहमान, रहीम, रज़ाक, जब्बार आदि। कुछ उर्दू नाम ऑराक्ज़ा के निबंध या पुराने इतिहासों से लिए जाते हैं जैसे कि रुमी, मीर्ज़ा, मदार, गालिब आदि।

शैक्षणिक नाम

शैक्षणिक नाम व्यक्तिगत कीमत के अलावा व्यावसायिक मूल्य भी रखते हैं। कुछ नाम हमेशा इंग्लिश भाषा के अंतर्गत रखे जाते हैं जैसे कि जॉन, मार्य, कैथरीन आदि। इसके साथ ही, कुछ शैक्षणिक संस्थान अपने नाम के अंत में 'विश्वविद्यालय' शब्द का उपयोग करते हैं जैसे कि हैरवर्ड विश्वविद्यालय, उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय आदि।

अंतिम विचार

नाम एक सामाजिक, नस्लीय, धार्मिक और आधार की पहचान होता है जो हमेशा हमारे साथ रहती है। नामों में संघर्ष होना आम बात है। हमें संघर्ष के मूल और इतिहास को शोधना चाहिए ताकि हम अपनी संस्कृति और विरासत को समझ सकें। हमारे नाम हमारी पहचान हैं जो हमेशा हमारे साथ रहेंगे।